SAINIK SCHOOL-HOME

Sainik School
V.K. Krishna Menon

Sainik School भारत में Residential Schools की एक प्रणाली है,  जिसका प्रबंधन Sainik School Society, Ministry of Defence (MoD) के तहत करती है. भारतीय सेना के officer cadre के मध्य regional और class imbalance को दूर करने और cadets को शारीरिक और मानसिक रूप से NDA / INA के लिए तैयार करने के लिए, तत्कालीन Defense Minister V.K Krishna Menon के द्वारा 1961 इसकी कल्पना की गयी थी.

सभी Sainik School CBSE से affiliated हैं. इन स्कूलों में कठोर शारीरिक प्रशिक्षण कार्यक्रम के साथ-साथ एक structured academic curriculum  का पालन करते हैं। वे सर्वांगीण व्यक्तिव् को विकसित करने के लिए शिक्षा, खेल और पाठ्येतर (academic) गतिविधियों पर जोर देते हुए समग्र(holistic)शिक्षा प्रदान करते हैं।

सैनिक स्कूलों के पाठ्यक्रम में गणित(Math), विज्ञान( Science), सामाजिक विज्ञान (Social Science),  इत्यादी विषयों की एक विस्तृत श्रृंखला शामिल है। Academics के अलावा, छात्र / छात्राए कठोर शारीरिक प्रशिक्षण से गुजरते हैं, विभिन्न तरह के  खेलों में भाग लेते हैं, और सैन्य प्रशिक्षण प्राप्त करते हैं, जिसमें ड्रिल और परेड अभ्यास शामिल हैं।

सैनिक स्कूलों का उद्देश्य छात्रों / छात्राओं में नेतृत्व(Leadership) के गुणों, अनुशासन (Discipline), भाईचारे(camaraderie) और कर्तव्य (sense of duty) की भावना को बढ़ावा देना है। वे छात्रों को सशस्त्र बलों में सेवारत अधिकारियों के साथ बातचीत और सैन्य परंपराओं के संपर्क के माध्यम से विभिन्न कैरियर विकल्पों का पता लगाने के अवसर भी प्रदान करते हैं।

 Armed Forces में career के लिए छात्रों / छात्राओं को तैयार करने के अलावा, विविध क्षेत्रों में आगे बढ़ाने के लिए आवश्यक कौशल(skill) और ज्ञान से भी लैस करते हैं। वे जिम्मेदार और सर्वांगीण व्यक्ति (individual) बनाने का प्रयास करते हैं जो समाज में सकारात्मक योगदान दे सकें।

कुल मिलाकर,  Sainik School युवा छात्र / छात्राओं  को तैयार करने, उनकी प्रतिभा का पोषण करने और उन्हें अनुशासन, नेतृत्व और देशभक्ति के मूल्यों को स्थापित करते हुए career की एक विस्तृत श्रृंखला के लिए तैयार करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं।

10 thoughts on “SAINIK SCHOOL-HOME”

Leave a Comment